सिमडेगा की 13 बच्चे-बच्चियों को पुलिस ने कराया हैदराबाद से मुक्त, मानव तस्कर वन्दना डांग गिरफ्तार..


विकास साहू
सिमडेगा:- झारखंड में ह्यूमन ट्रेफिकिंग थमने का नहीं ले रहा है।एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट थाने की पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर हैदराबाद से 13 बच्चियों को रेस्क्यू कर मुक्त कराया है। वहीं एक मानव तस्कर को भी गिरफ्तार किया है।जानकारी देते हुए एसपी संजीव कुमार ने बताया कि मानव तस्कर वन्दना डांग के खिलाफ एक बच्ची के पिता ने 20 फरवरी को प्राथमिकी दर्ज कराई थी की वादी के द्वारा उसकी पुत्री को नौकरी दिलाने का झांसा देकर हैदराबाद ले जाया गया है। सूचना मिलने के पश्चात तत्काल एक टीम बनाकर पीड़िता की बरामदगी के लिए हैदराबाद भेजा गया।जहाँ पुलिस ने इंस्पेक्टर रवि प्रकाश राम के नेतृत्व में कार्रवाई करते हुए 13 बच्चियों को मुक्त कराया है।

उन्होंने बताया कि हैदराबाद से रेस्क्यू कर वापस लाये गए बच्चों में सिमडेगा के अलावा साहेबगंज,पाकुड़,गिरिडीह और खूंटी जिले के बच्चे शामिल हैं।एसपी संजीव कुमार ने कहा कि इलाके में मानव तस्करों के खिलाफ पुलिस सख्त कार्रवाई कर रही है। एसपी ने बताया कि इसके लिए गठित टीम में पुलिस निरीक्षक रवि प्रकाश राम, एएचटीयू थाना के सअनि सत्येन्द्र कुमार सिंह, प्रशिक्षु पुअनि रविरंजन पांडेय, विजेता भारती, आरक्षी सियोन सुरीन, मनोज मंडल आदि के द्वारा उक्त कार्रवाई की गई।

एसपी ने बताया कि जिले से हो रहे मानव तस्करी पर पूर्ण अंकुश लगाने के लिए पुलिस पूरी संजीदगी के साथ कार्य कर रही है। इसके लिए सभी थानों में बकायदा एएचटीयू पदाधिकारी की प्रतिनियुक्ति की गई है। जो संबंधित मामलों की गहनता से छानबीन करते हुए समुचित कार्रवाई करेंगे।उन्होंने कहा कि खेल, जनता दरबार आदि माध्यमों से भी लोगों को जागरूक किया जा रहा है। जिससे लोग मानव तस्करी में संलिप्त लोगों को चिह्नित कर सकें। उन्होंने बताया कि जिले में सक्रिय मानव तस्करों को चिह्नित कर उनके विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

दो साल में अबतक 90 से अधिक लड़कियों का किया गया रेस्क्यू

एसपी ने बताया कि पिछले दो साल में करीब 80 से 90 लड़कियों का रेस्क्यू किया गया है जिन्हें स्वरोजगार से जोड़ा जा रहा है। उन्होंने कहा कि रेस्क्यू कर वापस लाई गई लड़कियों के लिए जल्द ही वर्कशॉप का आयोजन कर उन्हें मोटिवेट किया जाएगा। एसपी ने कहा कि गिरफ्तार तस्करों को कड़ी सजा मिले, इसके लिए पुलिस बेहतर तरीके से अनुसंधान कर रही है और सुबूत इकट्‌ठा कर रही है। उन्होंने बताया कि मानव तस्करी जैसे मामलों पर अंकुश लगाने के लिए सभी थानों में ट्रैफिक यूनिट पदाधिकारी की प्रतिनियुक्ति की गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.