युवक द्वारा ब्लैकमेलिंग से परेशान युवती ने फांसी लगाकर आत्महत्या की, सुसाइड नोट में मोदी जी से मांगा इंसाफ

धनबाद: झरिया थाना क्षेत्र के चौथाई कुल्ही में बीकॉम की एक छात्रा ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. शनिवार को उसके घर से फंदे से लटकता उसका शव बरामद किया गया। छात्रा ने एक सुसाइड नोट भी छोड़ा है। सुसाइड नोट में उसने सुमित नामक लड़के पर परेशान करने का आरोप लगाया है. उसने अपने सुसाइट नोट में बताया है कि सुमित उसे बार-बार परेशान करता था और बात नहीं मानने की हालत में उसे बार-बार बर्बाद करने की धमकी देता रहता था. पुलिस ने घटना स्थल से शव बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए पीएमसीएच भेज दिया है.

बार-बार दबाव बनाने की कोशिश करता था सुमित

छात्रा ने अपने सुसाइड नोट में कहा है कि सुमित उस पर शादी करने का दबाव बना रहा था. इस काम में उसकी बहन भी उसका साथ दे रही थी. बात नहीं मानने पर उसकी बहन भी उसके साथ गाली-गलौज करती थी. आगे उसने सुसाइड नोट में बताया है कि सुमित बार-बार उसकी तस्वीर सोशल मीडिया पर अपलोड कर देने की धमकी देता था. सुमित की धमकी से वह तंग आ चुकी थी. उसने अपने सुसाइड नोट में लिखा है कि सुमित अक्सर उस पर दबाव बनाने की कोशिश करता था. जिससे वह काफी टूट चुकी थी.

सोशल मीडिया पर फोटो और ऑडियो डाल देने की दी धमकी मिला। छात्रा ने अपने सुसाइड नोट में लिखा है कि सुमित को उसने एक बार कहा कि मामले की शिकायत पुलिस से करेगी तो लड़के ने कहा कि तुमको जहां शिकायत करनी है, करो. मेरा कोई कुछ बिगाड़ नहीं सकता है. साथ ही उसने गाली-गलौज भी की.

छात्रा ने अपने सुसाइड नोट में लिखा कि सुमित ने कहा कि अगर तुम मुझसे शादी नहीं करोगी तो मैं तुम्हारा पूरा जीवन बर्बाद कर दूंगा. सोशल मीडिया पर सारी बातचीत का ऑडियो क्लिप और फोटो डाल दूंगा जिससे समाज में तुम्हारी काफी बदनामी होगी और तुम किसी को मुंह दिखाने लायक नहीं रहोगी.

इसी से तंग आकर उसने अपनी जान दे दी. बताया जाता है कि सुमित नामक लड़का उस लड़की का रिश्तेदार है. सुमित देवघर का रहने वाला है. फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है. छात्रा ने अपने सुसाइड नोट में अपने लिए इंसाफ भी मांगा है. छात्रा ने अपने सुसाइड नोट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम का ज़िक्र किया है। सुसाइड नोट के माध्यम से छात्रा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी से इन्साफ की गुहार लगाई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.