नक्सलवाद के समाप्ति तक जारी रहेगा “ऑपरेशन ट्राइडेंट”: डीजीपी

राँची/सरायकेला। झारखण्ड के पुलिस महानिदेशक के एन चौबे गुरुवार को राँची एवं सरायकेला खरसावां जिले के घोर नक्सल प्रभावित क्षेत्र में स्थित नवसृजित पुलिस कैंप पियाकुली, गोमियाडीह तथा रायजमा का भ्रमण किया। इस भ्रमण के दौरान उन्होंने नक्सलियों के खिलाफ चलाए जा रहे ऑपरेशन ट्राइडेंट का जायजा लिया, तथा कहा किस अभियान इस क्षेत्र में नक्सलवाद की समाप्ति तक चलाया जाएगा।

इस दौरान उन्होंने जवानों से बातचीत भी की तथा नक्सल विरोधी अभियान में अच्छा प्रदर्शन करने के लिए हौसला अफजाई भी किया तथा अच्छा कार्य करने के लिए उन्हें पुरस्कृत भी किया। साथ ही पुलिस महानिदेशक श्री केंद्र चौबे ने सभी जवानों से अभियान के दौरान नक्सलियों द्वारा पहुंचाए जाने वाले आघात भी सतर्क रहने को कहा। उन्होंने कहा कि पुलिस इन दुर्गम क्षेत्रों में सरकार के प्रतिनिधि है। तथा उन्होंने पुलिस को आम जनता के प्रति संवेदनशील रहने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने यह भी कहा कि पुलिस को इस क्षेत्र के लोगों के सर्वांगीण विकास पर भी ध्यान देना चाहिए और विकास को ही अपना लक्ष्य मानना चाहिए गोमियाडीह कैंप के दौरे के दौरान पुलिस महानिदेशक गोमियाडीह गांव के एक बच्चा बुधु मुंडा से भी मिले, जिसके हाथ की ऑर्थो सर्जरी सरायकेला पुलिस के द्वारा करवाया गया था।

रायजमा के भ्रमण के दौरान वहां बगल के मैदान में गांव के बीच हो रहे फुटबॉल मैच के दौरान खिलाड़ियों एवं आयोजन समिति को प्रोत्साहन पुरस्कार भी दिया। तथा गांव वालों का मनोबल बढ़ाया। डीजीपी के दौरे के बारे में सुनकर अगल बगल के गांव के काफी लोग डीजीपी से मिलने पहुंचे थे। डीजीपी ने आम जनता के सुख-दुख का हाल जाना। जनता ने पुलिस द्वारा कैंप खोले जाने पर काफी खुशी जाहिर की।

बाइक से नक्सल प्रभावित क्षेत्र अरहंजा पहुंचे डीजीपी

राँची जिला के तमाड़ इलाके के नक्सल प्रभावित क्षेत्र अरहंजा में डीजीपी कमल नयन चौबे बाइक से जा पहुंचे। यह इलाका महाराज प्रामाणिक, अमित मुंडा जैसे बड़े उग्रवादियों का कार्यक्षेत्र रहा है। पुलिस ने इन इलाकों में आपरेशन ट्राइडेंट शुरू किया है। डीजीपी ने पदाधिकारियों को जनता से लगातार संपर्क में रहकर उनकी समस्या का हल करने का दिशा में सतत प्रयत्नशील रहने के लिए निर्देशित किया। इस मौके पर पुलिस महानिदेशक महोदय ने नक्सलियों को भी सचेत करते हुए कहा कि झारखंड सरकार के आत्मसमर्पण नीति का लाभ उठाते हैं आप समर्पण करें तथा मुख्यधारा में लौटे अन्यथा नक्सलवाद की राह पर चलने के परिणाम उठाने के लिए तैयार रहें।

भ्रमण में ये रहे साथ

इस भ्रमण के दौरान डीजीपी कमल नयन चौबे के साथ एडीजी अभियान, आईजी अभियान, आईजी सीआरपीएफ, डीआईजी कोल्हान, एसएसपी राँची, एसपी सरायकेला खरसांवा, कमांडेंट 196 सीआरपीएफ तथा अन्य जिला पदाधिकारी शामिल थे।

One thought on “नक्सलवाद के समाप्ति तक जारी रहेगा “ऑपरेशन ट्राइडेंट”: डीजीपी

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.