भाजपा उम्मीदवार दीपक प्रकाश ने किया नामांकन, आंकड़े भी भाजपा के पक्ष में

रांची। झारखण्ड में राज्यसभा चुनाव के लिए झारखण्ड से भाजपा प्रत्याशी दीपक प्रकाश ने नामांकन दाखिल कर दिया है। शुक्रवार को भाजपा विधायकों के साथ भाजपा प्रदेश अध्‍यक्ष दीपक प्रकाश ने एक सेट में अपना नामांकन का पर्चा दाखिल किया। नामांकन के दौरान श्री दीपक के साथ राष्ट्रीय महामंत्री अरुण सिंह, पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास, केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा, पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी, संगठन मंत्री धर्मपाल सिंह आदि नेतागण मौजूद रहे। इधर राज्‍यसभा चुनाव में यूपीए खेमे से कांग्रेस ने शहजादा अनवर के रूप में दूसरे प्रत्याशी की घोषणा ने पूरे चुनाव को रोचक बना दिया है। झामुमो के विधायकों के आंकड़ों का मौजूदा गणित बताता रहा है कि झामुमो प्रमुख शिबू सोरेन के उच्च सदन पहुंचने में कहीं कोई दिक्कत नहीं है। मुकाबला दूसरी सीट पर भाजपा और कांग्रेस में होगा। यहां भी कांग्रेस के मुकाबले भाजपा संख्या बल के आधार पर कांग्रेस पर भारी पड़ती दिखाई दे रही है।

कांग्रेस के राज्यसभा प्रत्याशी दो बार विधानसभा चुनाव हार चुके हैं

शहजादा अनवर साल 2007 में कांग्रेस से जुड़े. वह दो बार, 2009 और 2014 में रामगढ़ से विधानसभा चुनाव लड़ चुके हैं, लेकिन जीत नहीं पाए. कांग्रेस से पहले जेएमएम के सदस्य रह चुके हैं. इधर, पिता फुरकान अंसारी का पत्ता कटने से नाराज कांग्रेस विधायक इरफान अंसारी ने कहा कि किसी भी सूरत में शहजादा को जीत नहीं मिलेगी. प्रदेश प्रभारी आरपीएन सिंह को चुनौती देते हुए उन्होंने कहा कि अल्पसंख्यक समाज को छलने की कोशिश की गई है. राहुल गांधी को सही फीडबैक नहीं दिया गया.

दूसरी सीट के लिए दीपक और शहजादा के मुकाबले में दीपक के पक्ष में आंकड़ा

बीजेपी के प्रत्याशी व प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश भी शुक्रवार को राज्यसभा चुनाव के लिए नामांकन दाखिल किये. झारखंड में दो सीटों के लिए राज्यसभा चुनाव 26 मार्च को होना है। एक सीट पर जेएमएम प्रत्याशी शिबू सोरेन की जीत पक्की है। दूसरी सीट के लिए दीपक प्रकाश और शहजादा अनवर में मुकाबला होगा। जिसमी आंकड़ें दीपक प्रकाश के पक्ष में दिख रहे हैं। भाजपा उम्मीदवार की जीत तय मानी जा रही है।

कांग्रेस बीजेपी में बीजेपी का पलड़ा भारी

राज्यसभा चुनाव में जीत के लिए भाजपा के उम्मीदवार दीपक प्रकाश या कांग्रेस के उम्मीदवार शहजादा अनवर को प्रथम वरीयता के 27 वोट चाहिए। कांग्रेस के 16 विधायक हैं वहीं, जेवीएम छोड़कर आए दो विधायकों बन्धु तिर्की और प्रदीप यादव को मिलकर यह संख्या 18 हो गई है। इसके अलावा आरजेडी के एक, एनसीपी के एक, माले के एक और दो निर्दलीय विधायकों का समर्थन कांग्रेस को मिल सकता है। इसके बावजूद यह आंकड़ा कांग्रेस उम्मीदवार को जीत के करीब (27 वोट) पहुंचाता नहीं दिख रहा। वहीं, बीजेपी के पास 25 विधायक हैं। बाबूलाल मरांडी के शामिल होने के बाद यह आंकड़ा 26 पर पहुंच गया है। बाबूलाल मरांडी के अनुरोध पर सरयू राय भी दीपक प्रकाश के पक्ष में मतदान कर सकते हैं। साथ ही साथ बीजेपी को आजसू के दो विधायकों का भी समर्थन मिल सकता है। ऐसे में दूसरी सीट के लिए बीजेपी का पलड़ा भारी दिख रहा है।

शिबू सोरेन की जीत तय

26 मार्च को ही राज्यसभा चुनाव के लिए मतदान के साथ-साथ नतीजे भी घोषित हो जाएंगे। यूपीए की ओर से जेएमएम प्रत्याशी के तौर पर झामुमो सुप्रीमो शिबू सोरेन 11 मार्च को नामांकन कर चुके हैं। उनकी जीत पक्की मानी जा रही है। यह तीसरा मौका होगा, जब शिबू सोरेन राज्यसभा चुनाव जीतकर राज्यसभा के सदन पहुंचेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.