CCTV: शराब दुकान में 20 रुपया के लिये दरोगा ने किया हंगामा, एसएसपी ने डीएसपी की रिपोर्ट पर तीन को किया सस्पेंड

राँची, रोहित सिंह। शराब को लेकर हंगामा करने के आरोप में राँची के सीनियर एसपी अनीश गुप्ता ने चुटिया थाने के तीन पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया है। चुटिया थाना क्षेत्र के बहु बाजार के पास शराब दुकान के कर्मी से हाथापाई और गाली गलौज करने के साथ हंगामा करने के आरोप में राँची के सीनियर एसपी अनीश गुप्ता ने चुटिया थाने के दरोगा अनेश्वर सिंह, रंजीत सिंह और पंकज चौधरी को निलंबित कर दिया है। तीनों के खिलाफ विभागीय कार्रवाई करने का भी निर्णय एसएसपी ने लिया है। तीनों के खिलाफ डीएसपी अमित कुमार सिंह की जांच रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई की गई है।

पुलिस अधिकारियों के अनुसार बृहस्पतिवार को तीनों अफसरों ने चुटिया थाना के चौकीदार के माध्यम से 300 देकर शराब लाने के लिए भेजा था। पैसे कम पड़ने पर प्रिंट रेट से भी कम पर शराब देने से मना कर दिया था दुकान वाले ने ,चौकीदार ने कहा 20 रुपिया नहीं है लाकर दे रहे है।लेकिन शराब दुकनादर ने मना कर दिया।वहीं चौकीदार वापस आ गया।चौकीदार ने आकर दरोगा को बताया कि शराब दुकान वाले ने 20 रुपया कम होने पर शराब नहीं दिया।इसी पर दरोगा दुकान में पहुंचे और दुकान में सेल्स मेन को कहा 20 रुपिया नहीं था तो बाद में देता तुमलोग शराब क्यों नहीं दिया। इसी पर दुकानदार और दरोगा में तू तू मैं मैं होने लगा।

दुकानदार ने कहा कि वह प्रिंट रेट से कम में शराब नहीं दे सकते हैं। इस बात को लेकर विवाद हुआ जिसके बाद तीनों पुलिसकर्मी मौके पर पहुंचे और दुकानदार से उलझ गए।और मारपीट गली गलौज करने लगे।

सस्पेंड दरोगा ने कहा-

चुटिया थाना के तीनों सस्पेंड दरोगा ने कहा शराब दुकान में थाना के एक चौकीदार ने शराब लेने गया था 20 रुपिया कम होने पर दुकान दार ने शराब नहीं दिया था।उसी को लेकर दुकान में जाकर समझाने गए थे कि आखिर 20 रुपिया लाकर दे ही देता शराब दे देना था।इसी पर दुकान वाले अभद्र तरीके से बोलने लगा इसी बात पर थोड़ा बहस हो गई।

सिटी डीएसपी ने जांच में मामला गम्भीर पाया

सिटी डीएसपी अमित कुमार सिंह ने जांच में सही पाया।उन्होंने बताये की वरीय पुलिस अधीक्षक महोदय के आदेशानुसार शराब दुकान में पुलिस द्वारा हंगमा करने की जांच में प्रथम दृष्टया से मामला गम्भीर था।अगर कोई पुलिस अधिकारी इस तरह का व्यवहार शराब के लिए करता है तो ये गम्भीर बिषय है।इसी पर जांच में पाया कि तीनों दरोगा शराब के नशे में शराब दुकान में गाली गलौज और शराब के लिए दुकान मालिक को धमकाने का आरोप सही पाया।जांच का रिपोर्ट वरीय अधिकारी को दिया गया।जिसे वरीय पुलिस अधीक्षक ने तीनो के ऊपर लगे गम्भीर आरोप को मध्ये नजर रखते हुए सस्पेंड कर दिया।

तीनो पुलिसकर्मी का रात में मेडिकल कराया गया

शराब दुकान में हंगामा की खबर जैसे ही वरीय पुलिस अधीक्षक को मिली उनके आदेश पर तीनों दरोगा का मेडिकल टेस्ट बृहस्पतिवार की रात में ही कराया गया।तीनो के शराब पीने की पुष्टि हुई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.