मेहमानी खाकर लौट रहे बारातियों ने बस में धार्मिक नारा लगाया तो सीएए के विरोध में धरना दे रहे स्थानीय युवकों ने बस को खेदड़ कर पकड़ा और महिला पुरुषों को जमकर मारा

राँची।कडरू में सीएए के विरोध में धरना दे रहे स्थानीय लोगो ने एक बस में सवार बारातियों की सोमवार की देर शाम पिटाई कर दी। बारातियों की गलती यह थी कि बस में सवार एक नौजवान ने धरना स्थल के पास धार्मिक नारा लगा दिया। कडरू के स्थानीय युवकों ने बस को अॉटो से खदेड़ कर आगे ईदगाह के पास पकड़ और उसमें सवार महिला पुरुषों की जम कर पिटाई की। बस से शीशे तोड़ डाले। काफी देर बाद जब पुलिस पहुंची तो बस को वहां से निकाला गया। घटना के बाद आक्रोशित पुराना अरगोड़ा के लोगो ने वहां घेराव किया।

एक ई रिक्शा चालक की रिक्शा उलट दी, जिसमें उसका सिर फट गया। पुराना अरगोड़ा चौक के पास धरना प्रदर्शन को देख हटिया एएसपी विनीत कुमार, सिटी डीएसपी अमित कुमार, सदर डीएसपी दीपक पांडेय, अरगोड़ा थानेदार विनोद कुमार और डोरंडा थानेदार शैलेश कुमार पुलिस बल के साथ वहां पहुंचे। बस में सवार लोग पुराना अरगोड़ा निवसी जितेंद्र लोहरा की बेटी की शादी के बाद मेहमानी खाने गए थे और सोमवार को देर शाम साढ़े सात बजे कडरू धरना स्थल के पास पहुंचे थे। इधर घटना के बाद पुलिस का कहना है कि आरोपियों के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।

काफी समझाने के बाद हटे आक्रोशित लोग

घटना के बाद अरगोड़ा के लोग काफी आक्रोशित हो गए थे। पुलिस और एसडीएम रांची धरना दे रहे अरगोड़ा के स्थानीय लोगो को काफी समझाया। लेकिन रात 11.30 बजे तक स्थानीय लोग उग्र थे और मारपीट करने वालों को पकड़ने की बात पर अड़े रहे। स्थानीय लोगो का कहना था कि रोड पर धार्मिक नारा लगाना किस तरह से गलत है। पुलिस ने जब आश्वासन िदया कि मारपीट करने वालों पर कार्रवाई की जाएगी तब अरगोड़ा के स्थानीय लोग शांत हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.